loader

मोदी: विकास को जन-आंदोलन बनाएगी बीजेपी सरकार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आने वाला समय देश के युवाओं का है, वे ही सब कुछ तय करेंगे। इसके लिए उनकी उस तरह से परवरिश हो सके, उनकी शिक्षा हो सके, यह ज़रूरी है। यह भी ज़रूरी है कि उनके लिए रोज़गार के मौके बनें। इसके लिए हम आने वाले समय में 100 लाख करोड़ रुपये का निवेश करेंगे। इस निवेश से काफ़ी बड़ी तादाद में रोज़गार के मौके बनेंगे। लेकिन मोदी ने यह नहीं कहा है कि इससे रोज़गार के कितने मौके बनेंगे। 
मोदी ने पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार का नाम लिए बग़ैर कहा कि देश इक्कीसवीं सदी में जा रहा है, यह महज नारा बन कर रह गया था। देश इसके लिए तैयार नहीं था। लेकिन अब देश उसके लिए तैयार है, देश इस मामले में दुनिया को नेतृत्व देगा। जिस तरह 19वीं सदी में सामाजिक बुराइयों के ख़िलाफ़ आंदोलन हुआ था, हमें एक बार फिर वैसा ही सकारात्मक आंदोलन चलाना होगा। 
मोदी ने यह भी कहा कि देश में भ्रष्टाचार एक बड़ा मुद्दा था। लेकिेन उनकी सरकार ने इस पर काबू पाया है, भ्रष्टाचार में कमी आई है। इसके साथ ही हम सुशासन पर ज़ोर दे रहे हैं और हम बेहतर शासन देने में कामयाब रहे हैं। 

गाँधी को याद किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महात्मा गाँधी को याद करते हुए कहा कि जिस तरह बापू ने आम जीवन के हर काम को आज़ादी के आंदोलन से जोड़ दिया था, उसी तरह विकास को आम जीवन से जोड़ कर उसे एक जन आंदोलन में बदलना होगा। 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीजेपी के चुनाव घोषणापत्र, संकल्प पत्र पेश किए जाने के बाद कहा कि इसमें आम जनता की आकाँक्षाओं, उनकी उम्मीदों को शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रवाद हमारी प्रेरणा है। 
विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि जब वह अपने विदेशी समकक्षों को बताती हैं कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में क्या काम हुआ है, लोग चौंक जाते हैं। उन्होंने कहा, 'जब मैं पहले की सरकारों और मौजूदा सरकार के काम की तुलना करती हूँ, तो लोग यकीन नही करते हैं।' 

'टुकड़े-टुकड़े गैंग की मानसिकता नहीं'

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कांग्रेस और राहुल गाँधी का नाम लिए बग़ैर उन पर तंज करते हुए कहा कि यह संकल्प पत्र टुकड़े-टुकड़े गैंग वालों की मानसकिता के साथ तैयार नहीं किया गया है। यह घोषणापत्र राष्ट्रवादी विचारधारा के साथ तैयार किया गया है। 

संकल्प पत्र की मुख्य बातें

राजनाथ सिंह: मुसलिम महिलाओं से जुड़े तीन तलाक़ विधेयक को सरकार हर हालत में पारित कराएगी। 

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि संविधान की धारा 35-ए को ख़त्म करने की हर मुमकिन कोशिश की जाएगी। धारा 370 भी ख़त्म करने की कोशिश की जाएगी।  
राजनाथ सिंह : 75 नए मेडिकल और पोस्ट ग्रैजुएट कॉलेज खोले जाएँगे। डॉक्टरों की तादाद बढ़ाई जाएगी। 
राजनाथ सिंह: राष्ट्रीय राजमार्ग की लम्बाई दुगनी कर दी जाएगी। यानी, जितना लंबा राजमार्ग है, उतना ही और बनाया जाएगा। मौजूदा सभी रेल लाइनों को ब्रॉड गेज़ में तब्दील कर दिया जाएगा। 
राजनाथ सिंह: किसानों को सालाना 6,000 रुपये दिए जाएँगे। किसानों को 60 वर्ष की उम्र के बाद सरकार पेंशन देगी। 
राजनाथ सिंह: ग्रामीण इलाक़ों में 25 लाख करोड़ रुपये विकास कार्यों पर खर्च किए जाएँगे। 
राजनाथ सिंह: किसान क्रेडिट कार्ड से 1 लाख रुपये तक के कर्ज पर कोई ब्याज नहीं लगेगा। 
राजनाथ सिंह: अयोध्या में जल्द से जल्द भव्य राम मंदिर बनाया जाएगा। पर्यवेक्षकों का कहना है कि सरकार ने अब चुनाव के पहले और पूरे पाँच साल बिताने के बाद यह मुद्दा क्यों उठाया है। लोग पूछ सकते हैं कि सरकार की अंतिम घड़ी में राम मंदिर की सुध क्यों आई। 
राजनाथ सिंह: आतंकवाद के प्रति ज़ीरो टॉलरेंस की नीति हम अपनाएँगे। इस पर किसी तरह का कोई समझौता नहीं किया जाएगा। 
पूर्व बीजेपी अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने कहा कि हम राष्ट्रवाद के प्रति पूरी तरह समर्पित हैं। 
राजनाथ सिंह ने सुरक्षा का मुद्दा उठाते हुए कहा कि हमने लोगों के मन में देश की सुरक्षा की भावना पैदा की है। पर्यवेक्षकों का कहना है कि यह पहले से तय पार्टी लाइन के मुताबिक़ ही है, क्योंकि बीजेपी पहले से ही सुरक्षा के मुद्दे को चुनावी बहस के केंद्र में ले आई थी। 

जन आकाँक्षाएँ

भारतीय जनता पार्टी ने लोकसभा चुनाव के लिए घोषणापत्र, जिसे वह संकल्प पत्र कह रही है, जारी कर दिया। पार्टी के वरिष्ठ नेता राजनाथ सिंह ने कहा कि इस संकल्प के ज़रिए 130 करोड़ लोगों की आकाँक्षाएँ पेश की जा रही है। यह एक तरह का विज़न डॉक्यूमेंट है। 
अमित शाह: साल 2022 में जब देश आज़ादी की 75वीं सालगिरह मना रहा होगा, हम 75 कार्य योजना लेकर आएँगे। हमने इसके पहले 5 साल में 50 बड़े फैसले किए। देश में निराशा का माहौल ख़त्म हुआ। 
अमित शाह:  भारत एक ताक़तवर देश बन कर उभरा है। दुनिया में भारत का सम्मान बढ़ा है। भारतीय अर्थव्यवस्था मजबूत हुई है। 
बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि जब कभी भारत के विकास की बात होगी, 2014 से 2019 की यात्रा को याद किया जाएगा। बीते पाँच साल में 50 करोड़ ग़रीबों का जीवन स्तर उठाने का काम नरेंद्र मोदी की अगुआई में किया गया है। 
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

चुनाव 2019 से और खबरें

ख़ास ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें