loader

राम मंदिर से जुड़े बयानों पर प्रज्ञा ठाकुर को मिलीं धमकियाँ

भोपाल की बीजेपी सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को अज्ञात फ़ोन से धमकियाँ मिल रही हैं। इसकी रिपोर्ट बुधवार सुबह साध्वी ने भोपाल पुलिस में दर्ज कराई है। धमकियाँ अयोध्या में निर्मित होने वाले राम मंदिर निर्माण कार्य से जुड़े बयानों को लेकर मिलने की बात साध्वी ने अपनी शिकायत में कही है।

अयोध्या में बहुप्रतीक्षित राम मंदिर निर्माण का कार्य पाँच अगस्त से शुरू होने जा रहा है। राम मंदिर निर्माण प्रक्रिया के लिए आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या जाएँगे। यूपी की सरकार इस आयोजन को लेकर पूरी शिद्दत से जुटी हुई है।

ताज़ा ख़बरें

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण से जुड़े आंदोलन और बाबरी मसजिद ढाँचा ढहाये जाने में मध्य प्रदेश की भूमिका सुर्खियों में रही थी। मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और फायरब्रांड नेता उमा भारती बाबरी मसजिद विध्वंस के उपक्रम में अगली पंक्ति में रही थीं। मध्य प्रदेश के ही बीजेपी नेता (बाबरी विध्वंस के वक़्त बजरंग दल में होते थे) जयभान सिंह पवैया का रोल भी अहम रहा था। ऐसी सूचना है कि दोनों को ही राममंदिर निर्माण से जुड़े पाँच अगस्त के कार्यक्रम में अयोध्या आमंत्रित किया गया है।

बहरहाल, राममंदिर निर्माण कार्य शुरू होने के पहले इस मसले पर मध्य प्रदेश फिर सुर्खियों में है। भोपाल की सांसद और राम मंदिर निर्माण की बड़े पैराकारों में से एक साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने उन्हें धमकियाँ मिलने की शिकायत आज भोपाल पुलिस से की है।

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर का दावा है कि राम मंदिर निर्माण से जुड़े बयानों को लेकर अज्ञात फ़ोन से उन्हें कई बार धमकियाँ दी गई हैं। बयान वापस लेने को भी कहा गया है। अज्ञात आरोपियों ने उन्हें गालियाँ दी हैं। देख लेने और अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहने की धमकी भी दी है।

प्रज्ञा ठाकुर की शिकायत पर कमला नगर पुलिस स्टेशन ने अज्ञात आरोपी के ख़िलाफ़ मामला दर्ज कर लिया है। जो फ़ोन नंबर साध्वी ने अपनी शिकायत में पुलिस को दिया है, उसकी और धमकी देने वाली की खोजबीन भी शुरू कर दी गई है।

यह बयान दिया था साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने तीन दिन पहले अपने एक बयान में कहा था कि ‘पाँच अगस्त को अयोध्या मंदिर निर्माण कार्य आरंभ होने जा रहा है। पीएम मोदी भी इसमें शामिल होंगे। पाँच अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण कार्य आरंभ वाले दिन सभी लोग अपने घरों में पाँच दिये जलायें।’ प्रज्ञा सिंह ने इसके अलावा कोरोना को ख़त्म करने के लिए 25 जुलाई से पाँच अगस्त तक हर दिन शाम 7 बजे पाँच बार हनुमान चालीसा का पाठ करने की अपील भी लोगों से की थी। 

मध्य प्रदेश से और ख़बरें

पहले भी धमकी वाला ख़त मिला था

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को कुछ महीने पहले डाक से एक लिफाफा मिला था। लिफाफे में संदिग्ध सफेद पाउडर मिला था। लिफाफे में धमकी वाला एक ख़त भी मिला था

पुलिस में रिपोर्ट कराई गई थी। पुलिस ने पड़ताल के बाद महाराष्ट्र के उस युवक को पकड़ लिया था, जिसने साध्वी को धमकी भरा ख़त और संदिग्ध क़िस्म का पाउडर भेजा था। पड़ताल में सामने आया था कि ख़त और पाउडर भेजने वाले युवक ने पारिवारिक क़लह के चलते क़दम उठाया था। वह अपनों को फँसाना चाहता था, लेकिन ख़ुद की पुलिस के हत्थे चढ़ गया था।

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
संजीव श्रीवास्तव
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

मध्य प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें