loader
फोटो साभार: ट्विटर/रवि राजा

शिवसेना गठबंधन धर्म का पालन नहीं कर रही: महाराष्ट्र कांग्रेस

महाराष्ट्र में कांग्रेस की शिकायत है कि शिवसेना उसके साथ गठबंधन के साथी के तौर पर पेश नहीं आ रही है। कांग्रेस नेता और बीएमसी में प्रतिपक्ष के नेता रवि राजा ने इस मुद्दे को महाराष्ट्र कांग्रेस के मिलिंद देवड़ा जैसे शीर्ष नेताओं के सामने उठाया तो देवड़ा ने भी सोनिया गांधी और राहुल गांधी के सामने इस मुद्दे को रखने की बात कही। 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मिलिंद देवड़ा ने इस मुद्दे को आलाकमान के सामने उठाने की बात तो कही ही, साथ में उन्होंने ट्वीट कर सोनिया और राहुल को टैग भी किया है। उन्होंने ट्वीट में कहा है, 'एमवीए सहयोगी होने के बावजूद बीएमसी के वार्ड आरक्षण का सबसे बड़ा नुक़सान कांग्रेस को हो रहा है। राजनीतिक गठबंधन एकतरफ़ा नहीं हो सकते। मैं इस मुद्दे को अपने नगर पार्षदों की ओर से पार्टी के नेतृत्व के सामने उठाऊंगा।'

मिलिंद देवड़ा ने कांग्रेस नेता रवि राजा की शिकायत वाले ट्वीट को रिट्वीट करते हुए प्रतिक्रिया दी है। रवि राजा ने मुंबई कांग्रेस की बैठक की तसवीरें ट्वीट करते हुए कहा है, 'आज मुंबई कांग्रेस के पार्षदों ने बीएमसी चुनावों के लिए वार्ड आरक्षण सेट पर चर्चा करने के लिए एमआरसीसी कार्यालय में मुलाक़ात की। सभी नगरसेवक इस व्यवस्था से काफ़ी परेशान हैं और उन्हें लगता है कि उनके साथ अन्याय हुआ है। उन्हें उम्मीद है कि पार्टी आलाकमान इस पर गौर करेगा और इस मुद्दे को सुलझाएगा।'

ताज़ा ख़बरें

कांग्रेस नेताओं ने आरोप लगाया है कि बृहन्मुंबई नगर निगम यानी बीएमसी चुनाव से पहले पार्टी को कमजोर करने के लिए समन्वित प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया है कि शिवसेना मुंबई से कांग्रेस का सफाया करने की कोशिश कर रही है। 

कांग्रेस नेता रवि राजा ने आरोप लगाया है कि कुछ कांग्रेस नेताओं को एक पूर्व नियोजित योजना के तहत निशाना बनाया गया और उनके वार्डों में बदलाव लाए गए।

इंडिया टुडे से बातचीत में रवि राजा ने कहा, 'सबसे बड़ी पार्टी, शिवसेना भूल गई है कि कांग्रेस भी राज्य में महाराष्ट्र विकास अघाड़ी सरकार का हिस्सा है। वार्ड आरक्षण की लॉटरी व्यवस्था और सीमाओं में परिवर्तन जनसंख्या वृद्धि को ध्यान में रखते हुए अब नए ढंग से की जानी चाहिए थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। बीएमसी में लगभग 21 कांग्रेस नेता प्रभावित होंगे क्योंकि उनके वार्ड आरक्षण बदल गए हैं।' उनका कहना है कि वे 50-60 वार्ड का लक्ष्य रखते हैं लेकिन शीर्ष नेतृत्व को इस ओर देखना चाहिए।

महाराष्ट्र से और ख़बरें
बता दें कि बीएमसी में 236 वार्ड हैं। इनमें से 50 फीसदी या 118 वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित हैं। इनमें से 109 सामान्य वर्ग की महिलाओं के लिए, आठ अनुसूचित जाति की महिलाओं के लिए और एक अनुसूचित जनजाति की महिलाओं के लिए आरक्षित हैं। इस नयी व्यवस्था में रवि राजा सहित कई नेताओं की सीटें आरक्षण वाली हो जाएँगी।
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें