loader

राजस्थान: बीजेपी से चार, कांग्रेस से एक हिंदू संत टिकट पाने की तैयारी में

राजस्थान विधानसभा चुनाव में इस बार कम से कम पांच हिंदू संत टिकट पा सकते हैं। इसमें से चार संतों ने बीजेपी तो एक ने कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ने की इच्छा जताई है। फ़िलहाल, राज्य सरकार की कैबिनेट में एक धार्मिक नेता ओटाराम देवासी ही मंत्री हैं। लगातार दो विधानसभा चुनाव जीतने वाले देवासी को फिर से टिकट मिलना तय माना जा रहा है।
four hindu saint from bjp and one from congress to fight elections in rajasthan - Satya Hindi
चुनाव लड़ने के इच्छुक हिंदू संतों में योगी बालकनाथ का नाम सबसे प्रमुखता से आ रहा है। वे राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के क़रीबी रहे हैं। फ़िलहाल, वे रोहतक में नाथ संप्रदाय के मस्तनाथ मठ के महंत हैं और राजस्थान के अलवर के रहने वाले हैं। उनके समर्थक पहले से ही सोशल मीडिया पर राजस्थान सीएम के लिए ‘बालकनाथ योगी’ कैंपेन चला रहे हैं।अलवर के तिजारा में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री से मिलते-जुलते नाम के हिंदू संत अादित्यनाथ योगी टिकट पाने की दौड़ में हैं। मुस्लिम बहुल इस क्षेत्र में योगी हिंदुत्व का एक प्रमुख चेहरा हैं। वे पिछले पांच सालों से सामाजिक रूप से सक्रिय रहे हैं। आरएसएस से उनकी नज़दीकी के कारण उन्हें टिकट मिलने में आसानी हो सकती है।एक अन्य हिंदू संत नाथद्वारा के योगी संतोषनाथ भी टिकट पाने के प्रयास में हैं। वे नाथद्वारा के पूर्व विधायक कल्याण सिंह चाैहान के धार्मिक गुरु रहे हैं। बताया जाता है कि उस क्षेत्र में हिंदू मतदाताओं पर काफी प्रभाव है। 

कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ सकते हैं एक हिंदू संत

कांग्रेस से भी चुनाव लड़ने के लिए कम से कम एक हिंदू संत तैयारी में हैं। कबीर संप्रदाय के महंत निर्मल दास कांग्रेस के टिकट पर बाड़मेर के सिवाना सीट से चुनाव लड़ना चाहते हैं। हालांकि, पिछली बार वे चुनाव हार गए थे।
Satya Hindi Logo लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा! गोदी मीडिया के इस दौर में पत्रकारिता को राजनीति और कारपोरेट दबावों से मुक्त रखने के लिए 'सत्य हिन्दी' के साथ आइए। नीचे दी गयी कोई भी रक़म जो आप चुनना चाहें, उस पर क्लिक करें। यह पूरी तरह स्वैच्छिक है। आप द्वारा दी गयी राशि आपकी ओर से स्वैच्छिक सेवा शुल्क (Voluntary Service Fee) होगा, जिसकी जीएसटी रसीद हम आपको भेजेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

राजस्थान से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें