loader

बीजेपी विधायक राजा सिंह निलंबित, पार्टी ने भेजा कारण बताओ नोटिस

पैगंबर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी करने वाले तेलंगाना के विधायक टी. राजा सिंह को बीजेपी ने निलंबित कर दिया है। टी. राजा सिंह को कारण बताओ नोटिस भी भेजा गया है और पार्टी ने उनसे 10 दिन के भीतर इसका जवाब देने के लिए कहा है। 

बता दें कि टी. राजा सिंह की विवादित टिप्पणी के बाद हैदराबाद में कई जगहों पर मुस्लिम समुदाय के लोग सोमवार रात को सड़कों पर उतर आए थे।

उन्होंने विधायक को तुरंत गिरफ्तार किए जाने की मांग की थी। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए विधायक के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी और मंगलवार को उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। 

ताज़ा ख़बरें

बीजेपी की केंद्रीय अनुशासन समिति की ओर से भेजे गए नोटिस में टी. राजा सिंह से कहा गया है कि कई मामलों में उनके विचार पार्टी की लाइन के खिलाफ रहे हैं और यह पार्टी के संविधान का खुला उल्लंघन है। समिति के सचिव ओम पाठक ने कहा है कि विधायक को पार्टी की जिम्मेदारियों से तत्काल प्रभाव से मुक्त किया जाता है। 

इसके साथ ही उन्हें कारण बताओ नोटिस का 10 दिन के भीतर जवाब देने के लिए भी कहा गया है और उनसे पूछा गया है कि आखिर उन्हें क्यों नहीं पार्टी से निष्कासित कर दिया जाए। विधायक से कहा गया है कि वह 2 सितंबर तक अपना जवाब पार्टी तक पहुंचा दें। 

टी. राजा सिंह का एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें वह पैगंबर पर अपमानजनक टिप्पणी करते हुए नजर आ रहे हैं। टी. राजा सिंह हैदराबाद में गोशामहल सीट से बीजेपी के विधायक हैं और पहले भी इस तरह की विवादित टिप्पणियां करते रहे हैं।

राजा सिंह का बयान

राजा सिंह ने पूछा है कि उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज क्यों नहीं होती जिन्होंने हिंदू देवी-देवताओं पर का मजाक बनाया। क्या राम हमारे राम नहीं हैं या सीता हमारी सीता माता नहीं हैं। उन्होंने कहा कि तेलंगाना में भगवान राम और सीता के भक्त पूछ रहे हैं कि जिसने हमारे राम के खिलाफ अभद्र बातें कहीं, उसे सुरक्षा क्यों दी गई है ऐसी सुरक्षा तो प्रधानमंत्री को भी नहीं दी जाती। राजा सिंह कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी के बारे में बात कर रहे थे। 

राजा सिंह के नेतृत्व में पिछले दिनों बीजेपी कार्यकर्ताओं ने स्टैंड अप कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी के शो का विरोध किया था। पुलिस की जबरदस्त सुरक्षा के बीच मुनव्वर फारूकी का कॉमेडी शो आयोजित हुआ था। शो का विरोध करने की वजह से बीजेपी विधायक और उनके समर्थकों को हाउस अरेस्ट कर लिया गया था। 

तेलंगाना से और खबरें
बता दें कि इससे पहले नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल के द्वारा पैगंबर पर की गई टिप्पणियों को लेकर देशभर में अच्छा खासा विवाद हो चुका है। नूपुर शर्मा को बीजेपी ने निलंबित कर दिया था जबकि नवीन जिंदल को 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया गया था। 
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

तेलंगाना से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें