loader

यूपी बीजेपी विधायक महिलाओं से बोले- बच्चे आप पैदा करो, ख़र्चा सरकार दे

बीजेपी के एक और नेता द्वारा महिलाओं से बदजुबानी करने का वाक़या सामने आया है। ये महाशय उत्तर प्रदेश के बीजेपी विधायक हैं और नाम इनका रमेश दिवाकर है। औरैया से विधायक रमेश दिवाकर का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वह महिलाओं से अभद्र बात कर रहे हैं। 

इलाक़े की कुछ महिलाएं बीते रविवार को रमेश दिवाकर के पास विधायक होने के नाते अपनी परेशानी लेकर गई थीं। महिलाएं प्राइवेट स्कूल की फ़ीस में छूट की मांग को लेकर विधायक के पास गई थीं लेकिन विधायक महिलाओं पर भड़क गए। बातचीत के दौरान विधायक दिवाकर ने एक महिला से कहा, “एक बार और आप आई थीं, बच्चे आप पैदा करो और रुपया हम दें, सरकारी स्कूल किसलिए होते हैं।” विधायक ने आगे कहा कि सरकारी स्कूलों में खाना, कपड़ा सब मिल रहा है। 

इस पर एक महिला कहती है कि ये जनता है, वोट आपको देती है, प्रतिनिधि आपको चुनती है। इसके बाद भी विधायक महिलाओं से बहस जारी रखते हैं। 

ताज़ा ख़बरें

बीजेपी प्रवक्ता समीर सिंह ने विधायक के बयान पर पीटीआई से कहा कि उन्हें और पार्टी नेतृत्व को इस बयान के बारे में जानकारी नहीं है लेकिन किसी को भी महिलाओं से अभद्र ढंग से बात करने का कोई अधिकार नहीं है। जबकि एसपी प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि विधायक के बयान की निंदा की जानी चाहिए और यही बीजेपी का चरित्र है। 

कब होगी कार्रवाई?

कोई महिला अपनी बात कहने क्षेत्र के जनप्रतिनिधि के पास ही तो जाएगी और अगर वह चली गयी तो उससे क्या इस तरह बात की जाएगी। लेकिन सवाल यहां बीजेपी आलाकमान पर है कि ऐसे लोगों के ख़िलाफ़ वह कोई सख़्त कार्रवाई क्यों नहीं करता क्योंकि ऐसे एक नहीं कई नेता बीजेपी में हैं। 

बलिया से बीजेपी के विधायक सुरेंद्र सिंह भी ऐसे ही बयानों के लिए चर्चा में रहते हैं। विधायक सुरेंद्र सिंह ने हाथरस में दलित युवती के साथ हुए गैंगरेप को लेकर कहा था कि बलात्कार की घटनाएं सिर्फ़ बेटियों को संस्कार देने से ही रूक सकती हैं। उन्होंने कहा था कि जहां सरकार का धर्म रक्षा करने का है, वहीं परिवार का भी धर्म है कि अपने बच्चों में संस्कार डालें। 

सोनिया गांधी की तुलना सपना से 

पिछले साल लोकसभा चुनाव से ठीक पहले इन्हीं विधायक ने हरियाणवी डांसर सपना चौधरी की तुलना कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से की थी और राहुल गांधी को सलाह दी थी कि वे सपना को अपना बना लें और यह अच्छा होगा कि सास और बहू दोनों ही एक ही कल्चर और एक ही पेशे से रहेंगी। इससे पहले सुरेंद्र सिंह प्रियंका गांधी वाड्रा को सूपर्णखा और बीएसपी सुप्रीमो मायावती की तुलना भैंस से कर चुके हैं। 

उत्तर प्रदेश से और ख़बरें

बीजेपी की विधायक साधना सिंह ने 2019 में मायावती को किन्नर से भी ज़्यादा बदतर बताया था। उन्होंने कहा था कि मायावती न तो नर है और न ही महिला।

इसी तरह उत्तर प्रदेश के बस्ती से बीजेपी सांसद हरीश द्विवेदी ने कहा था, ‘जब प्रियंका दिल्ली में रहती हैं तो जींस और टॉप में रहती हैं और जब क्षेत्र में आती हैं तो साड़ी और सिंदूर लगाकर आती हैं।’ बीजेपी सांसद की नज़र में प्रियंका ने जींस और टॉप पहनकर कोई बहुत बड़ा ग़ुनाह कर दिया है।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें