loader

मोदी का अखिलेश पर प्रहार, बोले- समाजवादी सिर्फ परिवारवादी हैं 

उत्तर प्रदेश में पहले चरण के मतदान से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को एक बार फिर बीजेपी के प्रत्याशियों के लिए वर्चुअल चुनाव प्रचार किया। इस दौरान प्रधानमंत्री ने मेरठ, गाजियाबाद, अलीगढ़, हापुड़ और नोएडा की जनता को जन चौपाल कार्यक्रम के नाम से संबोधित किया।

प्रधानमंत्री ने समाजवादी पार्टी पर जोरदार प्रहार किए और कहा कि 2017 से पहले जो सरकार उत्तर प्रदेश में थी उसने एक्सप्रेस वे के नाम पर लूट मचाई थी जबकि योगी आदित्यनाथ की सरकार में दो एक्सप्रेस वे पूरे हो चुके हैं और 5 एक्सप्रेस वे पर तेजी से काम चल रहा है।

उन्होंने कहा कि यह सिद्ध हो चुका है कि समाजवादी सिर्फ परिवारवादी हैं जबकि डबल इंजन की सरकार ने जमीन पर काम किया है।

ताज़ा ख़बरें

प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ करते हुए कहा कि कोई सोच नहीं सकता था कि उत्तर प्रदेश में कभी अपराधी, माफिया काबू में आएंगे लेकिन योगी आदित्यनाथ ने कानून का राज स्थापित किया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत कोरोनावायरस के संकट से गुजर रहा है लेकिन इसके बाद भी सरकार ने अच्छा काम किया है। उन्होंने कहा कि टीके और मुफ्त राशन से लेकर रोजगार तक के मामले में उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार ने तेजी से काम किया है। मोदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश के लोगों ने मन बना लिया है कि दंगाइयों, माफियाओं को उत्तर प्रदेश की सत्ता हथियाने नहीं देंगे। उन्होंने बिना नाम लिए समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव पर हमला बोला और कहा कि वैक्सीन को लेकर अफवाहें फैलाई गईं।

PM modi campaign for BJP in UP election 2022 - Satya Hindi

मोदी ने कहा कि ये लोग कहने को समाजवादी हैं लेकिन पूरी तरह परिवारवादी हैं। अगर इन्हें मौका मिल गया तो ये परिवारवादी और नकली समाजवादी किसानों को मिल रही मदद बंद करा देंगे। प्रधानमंत्री के भाषण को वर्चुअल ढंग से पार्टी के हजारों कार्यकर्ताओं ने सुना।

प्रधानमंत्री ने कुछ दिन पहले बीजेपी कार्यकर्ताओं को बजट 2022 की बारीकियां समझाई थीं और आम जनता तक बजट के फायदों को पहुंचाने का आह्वान किया था।

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में पहले चरण का मतदान 10 फरवरी जबकि दूसरे चरण का मतदान 14 फरवरी को होना है। क्योंकि चुनाव आयोग ने बड़ी चुनावी रैलियों, रोड शो आदि पर प्रतिबंध लगाया है इसलिए इस बार वर्चुअल चुनाव प्रचार पर खासा जोर है।

उत्तर प्रदेश से और खबरें

किसानों ने किया विरोध 

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में किसानों ने बीजेपी का विरोध करने का एलान किया है। कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली के बॉर्डर्स पर चले आंदोलन की अगुवाई करने वाले संयुक्त किसान मोर्चा ने किसानों से अपील की है कि उत्तर प्रदेश के चुनाव में किसान विरोधी बीजेपी को सजा दी जाए। 

बीजेपी के तमाम बड़े नेताओं के प्रचार के जवाब में समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव और राष्ट्रीय लोक दल के मुखिया जयंत चौधरी भी पश्चिमी उत्तर प्रदेश के इलाकों में घूम-घूम कर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें