loader

2024 के लिए जुट जाएं, योगी के मंत्रियों को मोदी का संदेश 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार रात को उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के मंत्रियों के साथ बैठक की। बैठक में प्रधानमंत्री ने मंत्रियों से कहा कि सरकार का बेहतर काम ही सत्ता में आने के दरवाजे खोल सकता है। न्यूज़ 18 के मुताबिक, प्रधानमंत्री ने सभी मंत्रियों से जनता की सेवा में और जी जान से जुटने के लिए कहा। प्रधानमंत्री ने कहा कि अब आराम के लिए वक्त नहीं है और सभी को 2024 के लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुट जाना चाहिए।

प्रधानमंत्री ने इस दौरान योगी आदित्यनाथ सरकार के द्वारा अपराधियों के खिलाफ बुलडोजर से की जा रही कार्रवाई की भी सराहना की।

ताज़ा ख़बरें

कम हुई सीटें

बता दें कि उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने तमाम विपरीत हालात के बाद भी अपने दम पर सत्ता में वापसी की है हालांकि पिछली बार के मुकाबले उसकी सीटें काफी कम हुई हैं। लेकिन वह 2024 के लोकसभा चुनाव पर इसका असर नहीं होने देना चाहती। इसलिए प्रधानमंत्री ने योगी कैबिनेट के मंत्रियों को चुनाव के लिए चुस्त-दुरुस्त रहने का मंत्र दिया है।

बैठक में प्रधानमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार में कानून और व्यवस्था की स्थिति बेहतर हुई है। न्यूज़ 18 के मुताबिक, उन्होंने मुख्यमंत्री को इसके लिए बधाई दी। उन्होंने कोरोना महामारी के दौरान किए गए प्रबंधन के लिए भी राज्य सरकार की तारीफ की। 

PM Modi Meets Yogi Cabinet  - Satya Hindi

योगी आदित्यनाथ सरकार के पहले कार्यकाल में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने योगी कैबिनेट के मंत्रियों के साथ ऐसी ही बैठक की थी। 

प्रधानमंत्री ने मंत्रियों से कहा कि वे ज्यादातर समय अपने निर्वाचन क्षेत्रों में गुजारें और सरकार के द्वारा चलाई जा रही योजनाओं को लागू करवाएं। उन्होंने कहा कि इस बात को सुनिश्चित किया जाए कि सभी को सरकार की योजनाओं का लाभ मिले।

PM Modi Meets Yogi Cabinet  - Satya Hindi

बैठक के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि उनकी योगी आदित्यनाथ सरकार के मंत्रियों के साथ बैठक हुई और इस दौरान गुड गवर्नेंस और आम नागरिकों के लिए ‘इज ऑफ लिविंग’ पर चर्चा हुई।

प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री और मंत्रियों को सरकार और संगठन के बीच  तालमेल बनाकर काम करने के भी निर्देश दिए।

महागठबंधन के बाद भी जीती बीजेपी 

उत्तर प्रदेश में पिछले लोकसभा चुनाव में सपा, बसपा और राष्ट्रीय लोकदल ने मिलकर महागठबंधन बनाया था लेकिन बावजूद इसके बीजेपी राज्य में अपने दम पर 62 लोकसभा सीटें जीतने में कामयाब रही थी। चुनाव के बाद ही बसपा गठबंधन से बाहर हो गई थी।

उत्तर प्रदेश से और खबरें

इस बार के विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी ने कुछ छोटे दलों का महागठबंधन बनाकर चुनाव लड़ा था। लेकिन उसे हार मिली और चुनाव के बाद वरिष्ठ नेता आज़म ख़ान के समर्थकों की नाराजगी और चाचा शिवपाल यादव के झटका देने की चर्चाओं के कारण सपा की मुश्किल बढ़ी है। 

बीजेपी के सामने इस बार 2019 जैसे महागठबंधन की चुनौती हाल फिलहाल नहीं है। देखना होगा कि समाजवादी पार्टी 2024 में छोटे दलों के गठबंधन के जरिए बीजेपी को कितनी चुनौती दे पाती है।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें