loader

चुनाव नतीजों को पलटने के लिए डोनल्ड ट्रंप ने कहा, वोट ढूंढो

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के आधिकारिक विजेता जो बाइडन के शपथ ग्रहण करने और मौजूदा राष्ट्रपति का कार्यकाल ख़त्म होने में सिर्फ दो हफ़्ते का समय बचा है, लेकिन डोनल्ड ट्रंप अभी भी चुनाव नतीजों को पलटने की कोशिश में लगे हुए हैं। वे इस जुगाड़ में हैं कि फ़र्जी वोट साबित कर चुनाव में धांधली का आरोप अदालत में साबित करें और चुनाव नतीजों को खारिज करवा दें।

अमेरिकी संविधान के मुताबिक़, राष्ट्रपति के रूप में निर्वाचित व्यक्ति 20 जनवरी को पद की शपथ लेगा और उसी दिन मौजूदा राष्ट्रपति का कार्यकाल ख़त्म हो जाएगा।

ख़ास ख़बरें

ब्रैड रैफेनस्पर्जर से क्या कहा?

लेकिन उससे पहले ट्रंप ने जॉर्जिया राज्य के रिपब्लिकन नेता ब्रैड रैफेनस्पर्जर से रविवार को एक घंटे तक बात की और कहा कि कहीं से किसी तरह कुछ वोट ढूढें ताकि चुनाव नतीजों को पलटा जा सके।

वॉशिंगटन पोस्ट के अनुसार, ट्रंप ने जॉर्जिया के इस नेता को डाँटा, उनकी तारीफ की, उनसे गुजारिश की और उन्हें धमकी देते हुए कहा कि वे हर हाल में ये वोट ढूंढे।

डोनल्ड ट्रंप ने ब्रैड रैफेनस्पर्जर से कहा कि वे किसी तरह जॉर्जिया में 11,780 वोट का पता लगाएं ताकि वे उस राज्य का चुनाव जीत सकें। ट्रंप ने यह भी कहा कि उस राज्य में जितने वोट उन्हें मिले थे, यह संख्या उससे सिर्फ एक ज़्यादा है।

बता दें कि जॉर्जिया का चुनाव डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बाइडन ने जीता था।

रैफेनस्पर्जर का इनकार

लेकिन फ़ोन पर घंटे भर चली इस बातचीत में रैफेनस्पर्जर कहते रहे कि "उनका आँकड़ा ग़लत है, वे साजिश रचने की ग़लत थ्योरी पर चल रहे हैं और ऐसा नहीं किया जा सकता है।"

लेकिन ट्रंप अपनी बात पर अड़े रहे। उन्होंने कहा, "जॉर्जिया हारने का कोई सवाल ही नहीं है, हम वहाँ लाखों वोट से जीते थे।"

क़ानून के जानकारों ने कहा है कि ट्रंप का व्यवहार सत्ता का दुरुपयोग है इस पर उनके ख़िलाफ़ आपराधिक मामला बन सकता है।

ट्रंप का ट्वीट

दिलचस्प बात तो यह है कि डोनल्ड ट्रंप ने इस पूरे मामले पर ट्वीट भी किया। उन्होंने कहा, "रैफेनस्पर्जर टेबल के नीचे के मतपत्र, मतपत्रों को नष्ट किए जाने, राज्य के बाहर के मतदाता और मारे जा चुके मतदाताओं के मुद्दे पर किसी सवाल का जवाब नहीं दे रहे हैं, वे ऐसा चाहते ही नहीं है।"

रैफेनस्पर्जर ने ट्वीट कर इसका जवाब दिया और कहा, "राष्ट्रपति महोदय, आप जो कुछ कह रहे हैं, वह सच नहीं है।"

अमेरिका में इस पर ज़बरदस्त प्रतिक्रिया हुई है। राष्ट्रपति निर्वाचित जो बाइडन की प्रचार टीम के वकील बॉब बॉर ने कहा कि "इससे पूरी घृणित कहानी और लोकतंत्र पर ट्रंप के हमले की बात सामने आ गई है।"

US presidential election 2020: donald trump asks brad raffensperger to find votes - Satya Hindi

चुनाव नतीजे पलटने की अंतिम कोशिश

दूसरी ओर, रिपब्लिकन पार्टी के सीनेटर टेड क्रूज़ ने कहा है कि वे राष्ट्रपति चुनाव का आधिकारिक सर्टिफिकेट दिए जाने का विरोध करेंगे।

अमेरिकी संविधान के अनुसार, इलेक्टोरल कॉलेज के सभी सदस्यों की बैठक 6 जनवरी को होनी है, जिसमें वे जीते हुए उम्मीदवार को आधिकारिक रूप से जीत का सर्टिफिकेट देंगे। इसके साथ ही चुनाव प्रक्रिया पूरी हो जाएगी और इस पर अंतिम मुहर लग जाएगी।

टेड क्रूज़ का कहना है कि वे कांग्रेस में आवेदन देकर इलेक्टोरल कॉलेज की इस बैठक को 10 दिनों के लिए टालने की माँग करेंगे। उनकी इस कोशिश में उनके साथ रिपब्लिकन पार्टी के दूसरे 10 सीनेटर भी हैं।

राष्ट्रपति ट्रंप ने चुनाव नतीजों को खारिज करवाने की कोशिश के तहत इसके पहले कई ऐसे काम किए हैं, जिन्हें संविधान का उल्लंघन कहा जा सकता है। संविधान के अनुसार, चुनाव नतीजों की घोषणा के बाद दिसंबर में इलेक्टोरल कॉलेज का गठन किया जाता है। उस बैठक में इलेक्टोरल कॉलेज के सदस्य उम्मीदवारों को वोट देते हैं और औपचारिक रूप से राष्ट्रपति का चुनाव करते हैं।

ट्रंप ने इस बैठक के पहले जॉर्जिया के गवर्नर ब्रायन केम्प से कहा कि वे इलेक्टोरल कॉलेज के सदस्यों को बदल दें। इसी तरह उन्होंने पेनसिलवेनिया के हाउस ऑफ़ रिप्रेज़ेन्टेटिव्स के अध्यक्ष से कहा कि वे उस राज्य में उनकी हार को पलटने में उनकी मदद करें।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

दुनिया से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें