loader

एमेज़ॉन ने एनएसओ से नाता तोड़ा, पर ज़िम्मेदारी से नहीं बच सकता!

पेगासस साफ्टवेअर के ज़रिए जासूसी करने के मामले का भंडाफोड़ होते ही एनएसओ से जुड़ी कंपनियों ने किनारा करना शुरू कर दिया है। एमेज़ॉन वेब सर्विस ने सबसे पहले यह कहा है कि उसने पेगासस सॉफ़्टवेअर बनाने वाली इस इज़रायली कंपनी से नाता तोड़ लिया है। 

एमेजॉन क्लाउड कंप्यूटिंग के क्षेत्र में है और एनएसओ से उसका पुराना रिश्ता है। एनएसओ ने इस जासूसी के लिए एमेज़ॉन वेब सर्विस के क्लाउड कंप्यूटिंग का इस्तेमाल किया है।

एमेज़ान अब इससे पल्ला झाड़ रहा है। उसने एक ताजा बयान में कहा है कि मानवाधिकारों के लिए काम करने वाली अंतरराष्ट्रीय संस्था एमनेस्टी इंटरनेशनल ने अपनी रिपोर्ट उसे मई 2021 में दी और उसके बाद उसने एनएसओ से संबंध तोड़ लिए हैं।

ख़ास ख़बरें

एमनेस्टी की रिपोर्ट एमेज़ॉन को

फ्रांसीसी ग़ैरसरकारी कंपनी फोरिबिडेन स्टोरीज़ ने एनएसओ के लीक डेटाबेस को हासिल किया और उस सूची का पता लगाया, जिसमें दर्ज फ़ोन नंबर की जासूसी पेगासस सॉफ़्टवेअर के ज़रिए की जानी थी।

इसके बाद एमनेस्टी इंटरनेशनल ने अपने लैब में इस सूची के 60 फ़ोन नंबरों की फोरेंसिक जाँच की। एमनेस्टी इंटरनेशनल ने यह रिपोर्टो एमेज़ॉन को दी। इसके अलावा एमेज़ॉन को पीअर रिपोर्ट यानी किसी दूसरी कंपनी के अध्ययन की रिपोर्ट भी मिली। 

amazon ends NSO service over pegasus software - Satya Hindi

क्या कहना है एमेज़ॉन का?

'वाइस' के टेक पोर्टल 'मदरबोर्ड' को भेजे एक ई-मेल में एमेज़ॉन वेब सर्विस के प्रवक्ता ने कहा है, "जब हमें इस गतिविधि की जानकारी मिली तो हमने वह अकाउंट और उससे जुड़ी बुनियादी सुविधाओं को बंद कर दिया।" 

एमेजॉन ने पहली बार एनएसओ से संबंध की बात मानी है, पर 'वाइस' ने 2020 में ही एक खबर में यह जानकारी दी थी। उसने उसी समय कहा था कि पेगासस और एमेज़ॉन साथ मिल कर काम करते हैं और पेगासस जासूसी करता है। 

'वाइस' का कहना है कि एमेजॉन के क्लाउड कंप्यूटिंग के इस्तेमाल करने से कोई तीसरी पार्टी पेगासस को एक्सेस नहीं कर सकती है। यह पेगासस को शोधकर्ताओं से भी दूर रखता है।

एनएसओ की सफाई

एनएसओ का कहना है कि जो भी डेटाबेस लीक हुआ है या जिस डेटा का बात हो रही है, उसे उससे कोई मतलब नहीं है। ये डेटा उसके न अब हैं, न पहले थे। ये डेटा ग्राहकों के हैं और ग्राहकों के डेटा तक उसकी पहुँच नहीं है। 

लेकिन पर्यवेक्षकों का कहना है कि एनएसओ पेगासस सॉफ़्टवेअर बेचने के बाद भी कुछ दिनों तक उससे जुड़ा रहता है और ग्राहकों को तकनीकी सेवा देता है। इसलिए एनएसओ यह नहीं कह सकता कि उसे उस डेटा से कोई मतलब नहीं है।

amazon ends NSO service over pegasus software - Satya Hindi
इसी तरह एमेज़ॉन वेब सर्विस अब भले ही पल्ला झाड़ ले, लेकिन उसे यह पता था कि पेगासस जासूसी का काम करता है और उस जासूसी में ही वह उसके क्लाउड कंप्यूटिंग का इस्तेमाल करता है। 
इसी तरह एमेज़ॉन को यह भी पता होना ही चाहिए कि क्लाउड कंप्यूटिंग की वजह से थर्ड पार्टी पेगासस तक नहीं पहुँच सकती, इस गुण के कारण ही उसकी सेवाएं ली गई हैं।
इस तरह एमेजॉन एनएसओ की भागेदार रही है और अब वह उससे एकदम पल्ला झाड़ कर अलग नहीं हो सकती है। 

क्या है पेगासस प्रोजेक्ट?

फ्रांस की ग़ैरसरकारी संस्था 'फ़ोरबिडेन स्टोरीज़' और 'एमनेस्टी इंटरनेशनल' ने लीक हुए दस्तावेज़ का पता लगाया और 'द वायर' और 15 दूसरी समाचार संस्थाओं के साथ साझा किया।

इसका नाम रखा गया पेगासस प्रोजेक्ट। 'द गार्जियन', 'वाशिंगटन पोस्ट', 'ला मोंद' ने 10 देशों के 1,571 टेलीफ़ोन नंबरों के मालिकों का पता लगाया और उनकी छानबीन की। उसमें से कुछ की फ़ोरेंसिक जाँच करने से यह निष्कर्ष निकला कि उनके साथ पेगासस स्पाइवेअर का इस्तेमाल किया गया था।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें