loader

कोरोना: जल्द बड़े आर्थिक पैकेज की घोषणा करेगी मोदी सरकार!

कोरोना वायरस से अर्थव्यवस्था को पड़ रही चोट को देखते हुए मोदी सरकार 1.5 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की घोषणा कर सकती है। न्यूज़ एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक़ के मुताबिक़, हालांकि अभी सरकार ने पैकेज को अंतिम रूप नहीं दिया है लेकिन इस बारे में प्रधानमंत्री कार्यालय, वित्त मंत्रालय और रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया (आरबीआई) के बीच बातचीत चल रही है। 

ताज़ा ख़बरें

रॉयटर्स के मुताबिक़, एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि यह आर्थिक पैकेज 2.3 लाख करोड़ का भी हो सकता है। उन्होंने कहा कि यह पैकेज कितना बड़ा होगा, इसे लेकर चर्चा चल रही है। न्यूज़ एजेंसी के मुताबिक़, इस सप्ताह के अंत तक इस पैकेज की घोषणा की जा सकती है और इसके तहत 10 करोड़ ग़रीबों और व्यापारियों के खातों में सरकार सीधे तौर पर रकम ट्रांसफ़र कर सकती है।

कोरोना वायरस के कहर के चलते कई दिनों से काम-धंधे बंद हैं और इसकी दिहाड़ी मजदूरों और समाज के अन्य ग़रीब तबक़ों पर जोरदार मार पड़ी है। वायरस के लगातार बढ़ रहे संक्रमण को देखते हुए ही मोदी सरकार ने देश भर में 21 दिन का संपूर्ण लॉकडाउन घोषित किया है। 

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता प्रमाणपत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

अर्थतंत्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें