loader
फ़ोटो साभार: ट्विटर/शरद पवार

राष्ट्रपति चुनाव पर विपक्ष की बैठक से पहले पवार से मिलीं ममता

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार से दिल्ली में उनके आवास पर मुलाक़ात की। उनकी यह मुलाक़ात तब हुई है जब एक दिन बाद ही यानी बुधवार को राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार पर आम सहमति बनाने के लिए ममता बनर्जी द्वारा विपक्षी दलों की एक अहम बैठक बुलाई गई है। राष्ट्रपति का चुनाव 18 जुलाई को होने वाला है।

ममता बनर्जी और शरद पवार, दोनों नेताओं ने इस मुलाक़ात की तसवीरों को साझा किया है। पवार ने ट्वीट किया है कि दिल्ली में उनके आवास पर आज ममता बनर्जी ने उनसे मुलाक़ात की और देश के कई मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की।

ममता बनर्जी ग़ैर-बीजेपी दलों की एक बैठक के लिए मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी में आईं। उन्होंने आगामी राष्ट्रपति चुनाव के लिए एक संयुक्त रणनीति तैयार करने के लिए बैठक बुलाई है।

ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस ने भी ट्वीट में लिखा, 'दो दिग्गज नेताओं ने सभी प्रगतिशील विपक्षी ताकतों की बैठक के लिए मंच तैयार किया जो कल नई दिल्ली के कॉन्स्टिट्यूशन क्लब में होने वाली है। विभाजनकारी ताकतों से लड़ने का हमारा संकल्प और मजबूत होता है!'

इंडिया टुडे ने सूत्रों के हवाले से ख़बर दी है कि मुलाक़ात के दौरान ममता बनर्जी ने शरद पवार से राष्ट्रपति चुनाव के लिए विपक्ष का उम्मीदवार बनने को कहा, लेकिन एनसीपी प्रमुख ने यह कहते हुए प्रस्ताव को ठुकरा दिया कि वह सक्रिय राजनीति में बने रहना चाहते हैं।

पिछले हफ्ते टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी ने 22 विपक्षी नेताओं और मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखकर 15 जून को नई दिल्ली के कॉन्स्टीट्यूशन क्लब में बैठक में भाग लेने का आग्रह किया था। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और माकपा महासचिव सीताराम येचुरी सहित ग़ैर-बीजेपी दलों से बैठक में शामिल होने का अनुरोध किया गया है। एनसीपी प्रमुख शरद पवार भी बैठक में शामिल होंगे। कुछ मीडिया रिपोर्टों में पवार को राष्ट्रपति पद की दौड़ में बताया गया है।

ताज़ा ख़बरें

पत्र में ममता बनर्जी ने कहा कि राष्ट्रपति चुनाव सभी प्रगतिशील विपक्षी दलों को भारतीय राजनीति के भविष्य पर फिर से विचार करने का सही अवसर प्रदान करता है। समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव भी बुधवार को राष्ट्रीय राजधानी में विपक्ष की बैठक में शामिल होंगे।

मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि झारखंड मुक्ति मोर्चा के अध्यक्ष और झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन कल संयुक्त विपक्ष की बैठक में शामिल होंगे।

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) कल बैठक में भाग लेने के लिए तैयार हैं। इसके अलावा डीएमके के टीआर बालू, शिवसेना के सुभाष देसाई, रालोद के जयंत चौधरी और महबूबा मुफ्ती ने बैठक में शामिल होने की पुष्टि की है।

राजनीति से और ख़बरें

बता दें कि विपक्ष की ओर से राष्ट्रपति के चुनाव में उम्मीदवार बनाए जाने की तमाम अटकलों के बीच एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा है कि वह राष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष के उम्मीदवार की दौड़ में नहीं हैं। पवार ने यह बात सोमवार को एनसीपी के नेताओं की बैठक में कही। इस बैठक में एनसीपी के तमाम बड़े नेता शामिल रहे। 

इससे पहले खबर थी कि कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी, टीएमसी की प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी शरद पवार को राष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष का उम्मीदवार बनाने पर सहमत हैं। राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने शरद पवार को सोनिया गांधी की इस राय के बारे में बताया था। खड़गे को कांग्रेस की ओर से राष्ट्रपति चुनाव को लेकर विपक्ष के उम्मीदवार के बारे में बातचीत की जिम्मेदारी दी गई है।

mamata banerjee meets sharad pawar ahead of opposition meet on president election - Satya Hindi
राष्ट्रपति के चुनाव में 776 सांसद और 4033 विधायक मतदान करेंगे। इस तरह इस चुनाव में कुल 4809 मतदाता हैं। सांसदों के वोट की कुल वैल्यू 5,43,200 है जबकि विधायकों के वोट की वैल्यू 5,43,231 है और यह कुल मिलाकर 10,86,431 होती है। इसमें से जिस उम्मीदवार को 50 फ़ीसदी से ज्यादा वोट मिलेंगे, उसे जीत हासिल होगी। बीजेपी और उसके सहयोगी दल 50 फीसदी वोटों के आंकड़े से 13000 वोट पीछे हैं।
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

राजनीति से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें