loader

आईपीएल : धोनी पर क्यों लगा 12 लाख रुपए का ज़ुर्माना?

इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीज़न की शुरुआत चेन्नेई सुपर किंग्स के लिए बहुत अच्छी नहीं रही। टीम को देलही कैपिटल्स के हाथों सात विकेट की क़रारी हार झेलनी पड़ी, इसके कप्तान महेंद्र सिंह धोनी शून्य पर आउट हो गए और इसके अलावा टीम पर 12 लाख रुपए का ज़ुर्माना भी ठोंक दिया गया। 

क्यों लगा जुर्माना?

आख़िर क्या मामला है, क्यों सीएसके को दंड भरना होगा? इसकी वजह यह है कि चेन्नई सुपर किंग्स नियत समय में ज़रूरी 20 ओवर पूरी करने में नाकाम रही, वह सिर्फ 18.4 ओवर गेंद ही डाल पाई। 

बीसीसीआई का नियम है कि आईपीएल में हर टीम को 20 ओवर डालने के लिये 90 मिनट का समय मिलेगा, उसे हर घंटे 14.1 ओवर गेंदबाजी करनी होगी। इसमें रणनीतिक फ़ैसले करने के लिया गया समय नहीं जोड़ा जाता है।

धीमी गेंदबाजी

इस धीमी गेंदबाजी की वजह से कप्तान धोनी पर 12 लाख रुपए का जु़र्माना लगाया गया है। आईपीएल ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा, "आईपीएल के इस सीज़न में धोनी की टीम ने आचार संहिता का उल्लंघन पहली बार किया है, इसलिए उन पर 12 लाख रुपए का न्यूनतम जुर्माना ही लगाया गया।" 

सीएसके ने पहले बल्लेबाजी की, सुरेश रैना ने 36 गेंदों पर 54 रन ठोंक दिए, मोईन अली ने 36 और सैम करन ने 34 रन बनाए। इसने कुल 189 रन बनाए, जो अच्छा स्कोर है। लेकिन देलही कैपिटल्स ने आठ गेंद रहते ही यह लक्ष्य हासिल कर लिया और धोनी की टीम को शिकस्त दे दी। 

IPL 2021 : Dhoni fined under BCCI rule - Satya Hindi

ढीली गेंदबाजी?

धोनी ने इसे स्वीकार कर लिया है और कहा है, ‘‘हम बेहतर गेंदबाजी कर सकते थे। गेंदबाज अपेक्षा के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर सके और बेहद ढीली गेंदें डाली। उन्होंने सबक ले लिया है और आगे वे बेहतर प्रदर्शन करेंगे।"

बता दें कि आईपीएल की शुरुआत 2007 में हुई, जब बीसीसीआई के सदस्य ललित मोदी ने इसकी स्थापना की थी। इसका आयोजन हर साल अप्रैल-मई में होता है।

2016 में आईपीएल का टाइटल प्रायोजक विवो इलेक्ट्रॉनिक्स के नाम से जाना जाता था, लेकिन अब उसे आधिकारिक तौर पर ड्रीम 11 इंडियन प्रीमियर लीग के रूप में जाना जाता है। बीसीसीआई के मुताबिक, 2015 आईपीएल सीजन ने भारतीय अर्थव्यवस्था में 18.2 करोड़ डॉलर का योगदान किया था।

 राजस्थान रॉयल्स, डेक्कन चार्जर्स और सनराइजर्स हैदराबाद ने यह खिताब एक बार जीता है जबकि मुंबई इंडियंस, चेन्नई सुपर किंग्स ने तीन बार और कोलकाता नाइट राइडर्स ने दो बार इस ख़िताब पर क़ब्ज़ा किया है। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

खेल से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें