loader

महेंद्र सिंह धोनी, सुरेश रैना ने किया अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का एलान 

जाने-माने भारतीय क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने का एलान किया है। 7 जुलाई, 1981 को जन्मे धोनी वन डे और टेस्ट दोनों फॉर्मेट में लंबे समय तक भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान रहे। धोनी की कप्तानी में भारत ने 2007 का आईसीसी वर्ल्ड कप टी20 जीता, 2010 और 2016 का एशिया कप जीता, 2011 का आईसीसी वर्ल्ड कप जीता और 2013 की आईसीसी चैम्पियंस ट्राफ़ी जीती। धोनी के तुरंत बाद सुरेश रैना ने भी क्रिकेट से संन्यास का एलान कर दिया। 

ताज़ा ख़बरें
दायें हाथ के बल्लेबाज धोनी ने अपने क्रिकेट करियर में जमकर हवाई शॉट्स उड़ाए और खूब रन बटोरे। धोनी उन क्रिकेटर्स में शामिल हैं, जिन्होंने वन डे क्रिकेट में 10 हज़ार से ज़्यादा रन बनाए हैं। धोनी को वन डे में एक बेहतर फ़िनिशर माना जाता था। धोनी को दुनिया के बेस्ट विकेटकीपर्स में गिना जाता है। 

आईसीसी के तीन बड़े ख़िताब जीते 

एक के बाद एक लगातार कई टेस्ट मैचों में ज़बरदस्त खेल का प्रदर्शन करने वाले महेंद्र सिंह धोनी एक बेहद सफल कप्तान थे। रणनीति, मैच की स्थिति का सही आकलन करने की क्षमता और ज़बरदस्त टीम स्प्रिट की वजह से उनके नाम कई रिकॉर्ड हैं। वह आईसीसी की तीन बड़ी ट्रॉफी जीतने वाले अकेले कप्तान थे। 

‘एक युग का अंत हो गया’

धोनी के संन्यास पर पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली ने कहा, 'भारतीय क्रिकेट में एक युग का अंत हो गया। नेतृत्व का उनका गुण, ख़ास कर, खेल के छोटे रूप में, अद्वितीय था।' उन्होंने आगे कहा, 'एक दिवसीय क्रिकेट के शुरुआती दिनों में उनकी स्वाभाविक चमक पूरी दुनिया ने देखी है। हर अच्छी चीज का एक दिन अंत होता है और यह तो ज़बरदस्त था। उनका करियर बेमिसाल रहा।'

धोनी के साथ खेल चुके पूर्व क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण ने कहा, 'धोनी का क्रिकट करियर वाकई असाधारण रहा। उन्होंने एक क्रिकेट खिलाड़ी के सभी गुणों का उच्चतम स्तर पर लगातार लंबे समय तक प्रदर्शन किया।'

खेल से और ख़बरें

लक्ष्मण ने कहा, 'मैं धोनी की इस बात के लिए वाकई बहुत तारीफ करता हूँ कि वे न सिर्फ अब तक के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खिलाड़ियों में से एक थे, बल्कि मैच जिताने वाले खिलाड़ी के रूप में खुद को साबित कर चुके थे।' उन्होंने कहा कि धोनी ने भारतीय टीम को बहुत ऊंचाई दी और सबसे अलग रखा, वह अपने पीछे बहुत समृद्ध विरासत छोड़ गए हैं। 

फ़िल्म अभिनेत्री तापसी पन्नू ने कहा, 'भारतीय क्रिकेट में एक अध्याय का अंत हो गया।' अभिनेता रितेश देशमुख ने कहा कि धोनी हमारे दिल से रिटायर नहीं हुए हैं।

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

खेल से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें