loader

जहांगीरपुरी: पुलिस ने आपराधिक साज़िश को बताया वजह 

जहांगीरपुरी में हुई हिंसा के मामले में दिल्ली पुलिस ने गृह मंत्रालय को अंतरिम रिपोर्ट दी है। इसमें कहा गया है कि सांप्रदायिक हिंसा के पीछे आपराधिक साजिश अहम वजह है। रिपोर्ट में अब तक हुई गिरफ्तारियों और हिंसा की जांच के लिए बनाई गई टीमों व अन्य अहम जानकारियों को शामिल किया गया है। रिपोर्ट में शोभा यात्राओं के बारे में दी गई अनुमति को लेकर भी स्थिति साफ की गई है। गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली पुलिस से हिंसा में शामिल अभियुक्तों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने की अपील की है। 

उधर, गाजियाबाद के लोनी से बीजेपी विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने कहा है कि जहांगीरपुरी में हुई हिंसा के पीछे पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई और कट्टरपंथी देश जिम्मेदार हैं। 

पुलिस हिंसा के तमाम अभियुक्तों से पूछताछ कर रही है। दिल्ली पुलिस ने दो अभियुक्तों अंसार और असलम को भी हिरासत में ले लिया है। असलम ने दिल्ली पुलिस के सब इंस्पेक्टर मेदालाल मीणा पर गोली चलाई थी और उसके पास से देसी पिस्तौल बरामद हुई है। जबकि अंसार पर आरोप है कि उसने जुलूस में शामिल लोगों से बहस की थी और इसके बाद ही दोनों ओर से पत्थरबाजी शुरू हुई। 

ताज़ा ख़बरें

हालात को देखते हुए पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। पुलिस ने जहांगीरपुरी और आसपास के तमाम इलाकों में पैदल मार्च किया है और लोगों से फर्जी खबरों पर भरोसा न करने और इन्हें शेयर न करने की अपील की है। इलाके में बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। हिंसा प्रभावित क्षेत्र को 5 सेक्टरों में बांटा गया है।

सोनू चिकना गिरफ़्तार 

पुलिस को हिंसा से जुड़े सैकड़ों वीडियो मिले हैं जिनकी जांच पुलिस की अलग-अलग टीमें कर रही हैं। पुलिस ने सोनू चिकना उर्फ यूनुस को सोमवार को गिरफ्तार किया है। सोनू का एक वीडियो सामने आया था जिसमें वह हिंसा के दौरान गोलियां चला रहा था। पुलिस जब सोमवार को सोनू की पत्नी को पूछताछ के लिए ले जा रही थी तो इस दौरान फिर से माहौल खराब हुआ था और पुलिस पर पत्थर फेंकने की खबर सामने आई थी।

इस मामले में अब तक 24 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है जिनमें से दो नाबालिग हैं। दिल्ली पुलिस के आयुक्त राकेश अस्थाना ने कहा है कि हिंसा में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

दिल्ली से और खबरें

वीएचपी, बजरंग दल के खिलाफ केस दर्ज 

जहांगीरपुरी हिंसा के मामले में पुलिस ने विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के खिलाफ केस दर्ज किया है। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए विश्व हिंदू परिषद ने कहा है कि अगर उनके कार्यकर्ताओं पर कार्रवाई हुई तो दिल्ली पुलिस के खिलाफ आंदोलन किया जाएगा। बता दें कि हनुमान जयंती के मौके पर पुलिस ने दो शोभा यात्राओं को निकालने की इजाजत तो दी थी लेकिन तीसरी शोभायात्रा जिसके निकलने के दौरान हिंसा हुई उसे निकालने की इजाजत नहीं दी गई थी।

विश्व हिंदू परिषद के नेता प्रेम शर्मा ने कहा है कि तीसरी शोभायात्रा निकालने की भी इजाजत पुलिस ने दी थी लेकिन सुरक्षा उपलब्ध नहीं कराई।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

दिल्ली से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें