loader

चौथे चरण में हुआ 64% मतदान, 72 सीटों पर डाले गए वोट

लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में 64% मतदान हुआ है। इस चरण में 9 राज्यों की 72 सीटों पर वोट डाले गए। बिहार में 58.92%, झारखंड में 63.77%, मध्य प्रदेश में 66.68%, जम्मू-कश्मीर में 9.79%, महाराष्ट्र में 55.85%, ओडिशा में 64.05%, राजस्थान में 67.30%, उत्तर प्रदेश में 57.29%, पश्चिम बंगाल में 76.66% मतदान हुआ है। बता दें कि लोकसभा चुनाव के पहले चरण में 69.45%, दूसरे चरण में 69.43% और तीसरे चरण में 64% वोटिंग हुई थी। 

पहले चरण के लिए 11 अप्रैल, दूसरे चरण के लिए 18 अप्रैल और तीसरे चरण के लिए 23 अप्रैल को मतदान हुआ था। आख़िरी चरण के लिए मतदान 19 मई को होगा और 23 मई को नतीजे आएँगे। बता दें कि लोकसभा चुनाव के लिए कुल सात चरणों में वोटिंग होगी।

इस चरण में बिहार की 5, जम्मू-कश्मीर की 1, झारखंड की 3, मध्य प्रदेश की 6, महाराष्ट्र की 17, ओडिशा की 6, राजस्थान और उत्तर प्रदेश की 13-13 और पश्चिम बंगाल की 8 सीटों पर वोटिंग हुई। 2014 के लोकसभा चुनावों में इनमें से 56 सीटों पर बीजेपी को जीत मिली थी। बाक़ी सीटों पर कांग्रेस, तृणमूल और बीजू जनता दल (बीजद) ने जीत हासिल की थी। 

ताज़ा ख़बरें

इन बड़े चेहरों पर रही नज़र

चौथे चरण में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, एसएस आहलूवालिया, बाबुल सुप्रियो, सलमान खुर्शीद, अधीर रंजन चौधरी, कन्हैया कुमार, बैजयंत पांडा, उर्मिला मातोंडकर, पूनम महाजन, प्रिया दत्त, डिंपल यादव, मिलिंद देवड़ा प्रमुख चेहरे रहे। 

यूपी में इन सीटों पर हुआ मतदान 

चौथे चरण में उत्तर प्रदेश में शाहजहाँपुर, खीरी, हरदोई, मिसरिख, उन्नाव, फर्रुखाबाद, इटावा, कन्नौज, कानपुर, अकबरपुर,जालौन,  झांसी, हमीरपुर सीटों पर वोट डाले गए। 2014 में बीजेपी को इनमें से 12 और एसपी को एक सीट मिली थी। लेकिन इस बार एसपी-बीएसपी और आरएलडी मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं जबकि कांग्रेस भी अकेले दम पर चुनाव लड़ रही है। 

उत्तर प्रदेश में इस चरण की प्रमुख सीटों में फ़र्रुखाबाद सीट अहम है। यहाँ से पूर्व विदेश मंत्री सलमान ख़ुर्शीद कांग्रेस के टिकट पर चुनाव मैदान में हैं। कन्नौज लोकसभा सीट पर समाजवादी पार्टी के टिकट पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव मैदान में हैं। 

इन प्रमुख लोगों ने डाला वोट

चौथे चरण में रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी, अभिनेता आमिर ख़ान, उनकी पत्नी किरन राव, अभिनेत्री भाग्यश्री, उर्मिला मातोंडकर सोनाली बेंद्रे, माधुरी दीक्षित, अभिनेता अनुपम खेर, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया के गवर्नर शक्तिकांत दास, उत्तर प्रदेश की गोरखपुर लोकसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार रवि किशन, मुंबई उत्तर-पश्चिम सीट से बीजेपी उम्मीदवार पूनम महाजन, मशहूर फ़िल्म अदाकारा रेखा, उद्योगपति अनिल अंबानी सहित कई प्रमुख लोगों ने अपना वोट डाला। 

पहले और तीसरे चरण में हुए मतदान के दौरान कई जगहों पर ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायत आई थीं। इसे लेकर विपक्षी दलों ने चुनाव आयोग में शिकायत भी दर्ज कराई थी। इस चरण में समाजवादी पार्टी ने कन्नौज, लखीमपुर खीरी के कई पोलिंग बूथों पर ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायत चुनाव आयोग से की। 

बंगाल के आसनसोल में हुआ हंगामा 

मतदान के दौरान हिंसा की तो कोई ख़बर नहीं आई लेकिन आसनसोल में बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों के बीच हंगामा हुआ। यहाँ से बीजेपी उम्मीदवार और केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो की कार में तोड़फोड़ हुई। यहाँ बाबुल सुप्रियो का मुक़ाबला तृणमूल की उम्मीदवार मुनमुन सेन से है। 

बीजेपी और तृणमूल ने एक-दूसरे की शिकायत चुनाव आयोग से की है। तृणमूल ने कहा है कि बाबुल सुप्रियो ने मतदान के दौरान बूथ में जाकर हंगामा किया। दूसरी ओर बाबुल सुप्रियो ने कहा है कि पश्चिम बंगाल में केंद्रीय बलों की तैनाती की जाए। बीजेपी ने चुनाव आयोग से शिकायत की कि ममता सरकार ने लोकतंत्र को हाइजैक कर लिया है।
चुनाव 2019 से और ख़बरें
चुनाव आयोग ने केंद्रीय मंत्री और बीजेपी उम्मीदवार बाबुल सुप्रियो के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज करने के आदेश दिए हैं। सुप्रियो पर बूथ में ज़बरदस्ती घुसने और पोलिंग एजेंट को धमकाने का आरोप है। इसके अलावा बीजू जनता दल ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी को लिखे पत्र में कहा है, ‘बीजेपी के गुंडों ने मतदान के दौरान बारी विधानसभा क्षेत्र में 12 बूथों को कैप्चर करने की कोशिश की।'

इस चरण में महाराष्ट्र की 17 लोकसभा सीटों पर वोटिंग हुई। इन सीटों में नंदूरबार, धुले, डिंडोरी, नासिक, पालघर, भिवंडी, कल्याण, ठाणे, मुंबई उत्तर, मुंबई उत्तर-पश्चिम, मुंबई उत्तर-पूर्व, मुंबई उत्तर-मध्य, मुंबई दक्षिण-मध्य, मुंबई दक्षिण, मावल, शिरूर, शिर्डी शामिल हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव में ये सभी 17 सीटें शिवसेना और बीजेपी जीतने में कामयाब रही थी। तब कांग्रेस और एनसीपी को एक भी सीट नहीं मिली थी, लेकिन इस बार ये पार्टियाँ ज़्यादा मज़बूती के साथ चुनाव लड़ रही हैं। 

जोधपुर राजस्थान में सबसे हॉट सीट है। यहाँ से प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत कांग्रेस के टिकट पर और केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत बीजेपी के प्रत्याशी हैं। इस सीट पर जोरदार टक्कर हो रही है।
बाड़मेर लोकसभा सीट से कांग्रेस के टिकट पर मानवेन्द्र सिंह चुनावी मैदान मैं हैं। उनका मुक़ाबला बीजेपी के कर्नल सोनाराम से है। मानवेन्द्र सिंह पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं बीजेपी के दिग्गज नेता रहे जसवंत सिंह के बेटे हैं। मानवेन्द्र 2018 में बीजेपी को छोड़ कर कांग्रेस में शामिल हो गए थे। 

बिहार में दरभंगा, उजियारपुर, समस्तीपुर, बेगूसराय, मुंगेर की सीटों पर वोट डाले गए। इनमें बेगूसराय सीट जवाहरलाल नेहरू छात्रसंघ के पूर्व अध्‍यक्ष एवं भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी यानी सीपीआई प्रत्‍याशी कन्‍हैया कुमार के कारण बेगूसराय लोकसभा सीट पूरे देश में चर्चा में रही। कन्हैया की टक्कर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह से है। यहाँ महागठबंधन की ओर से आरजेडी प्रत्‍याशी तनवीर हसन मुक़ाबले में हैं।

बिहार की ही एक और सीट उजियारपुर में दो दिग्गज आमने-सामने हैं। एनडीए की तरफ़ से बीजपी के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय मैदान में हैं तो महागठबंधन से आरएलएसपी सुप्रीमो उपेंद्र कुशवाहा ताल ठोक रहे हैं।
ओडिशा में मयूरभंज, बालासोर, भद्रक, जाजपुर, केंद्रपाड़ा, जगतसिंहपुर सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं। पश्चिम बंगाल में बहरमपुर, कृष्ण नगर, राणाघाट, बर्धमान पूर्व, बर्धमान-दुर्गापुर, आसनसोल, बोलपुर, बीरभूम  सीटों पर मतदान हो रहा है। जम्मू-कश्मीर में अनंतनाग और झारखंड में चतरा, लोहारदगा, पलामू की सीटों पर चुनाव हो रहा है। 
संबंधित ख़बरें

जम्मू और कश्मीर की अनंतनाग सीट पर भी कड़ा मुक़ाबला है। यहाँ से पीडीपी की ओर से पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती और नेशनल कॉन्फ्रेंस के हसनैन मसूदी के बीच मुख्य मुक़ाबला है। कांग्रेस ने गुलाम अहमद मीर तो बीजेपी ने सोफ़ी यूसुफ़ को मैदान में उतारा है। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

चुनाव 2019 से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें