loader

अनुच्छेद 370, 35ए को हटाकर पटेल के सपने को साकार किया: मोदी

  • 08:56 - प्रधानमंत्री ने कहा कि व्यापारी दुकान के बाहर बोर्ड लगाते हैं - आज नक़द, कल उधार। मैं चाहता हूँ कि अब आप बोर्ड लगाएँ - डिजिटल पेमेंट को हाँ, नक़द को ना। प्रधानमंत्री ने कहा कि हमें डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देना होगा।
  • 08:53 - प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मैं सभी दुकानदारों से आग्रह करूंगा कि दुकान पर एक बोर्ड यह भी लगाएँ कि कृपया हमसे प्लास्टिक की थैली की अपेक्षा न करें। कपड़े का थैला लेकर आएँ। इस बार लोग दीवाली पर एक-दूसरे को कपड़े का थैला दे सकते हैं। 
  • 08:45 - प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि तीनों सेना के प्रमुखों पर एक चीफ़ नियुक्त होगा। उसे चीफ़ ऑफ़ डिफ़ेंस स्टाफ़ (सीडीएस) कहा जाएगा।
  • 08:31 - प्रधानमंत्री ने कहा कि आज़ादी के 70 सालों में देश 2 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था तक पहुँचा और 2014 से 19 तक हम 2 से 3 ट्रिलियन तक पहुँच गए। 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था कई लोगों को मुश्किल लग सकती है और यह चुनौती बड़ी है लेकिन सोचेंगे नहीं तो देश कैसे चलेगा, हम आगे कैसे बढ़ेंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारा सपना बड़ा होना चाहिए। 
  • 08:29 - प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि हमें देश के बदलते हुए मिजाज को समझना होगा। अब लोग सिर्फ़ रेलवे का स्टेशन बनने से संतुष्ट नहीं होते और वे पूछते हैं हमारे यहाँ वंदे भारत कब आएगी। लोग रेल के आने से संतुष्ट नहीं होते और पूछते हैं एयरपोर्ट कब बनेगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले लोग पूछते थे कि पक्की सड़क कब आएगी, आज कोई मिलता है तो कहता है, फ़ोर लेन रोड बनेगी या फिर 6 लेन वाली। 
  • 08:17 - प्रधानमंत्री ने कहा कि भ्रष्टाचार, भाई-भतीजावाद देश के लिए ख़तरा है और यह दीमक की तरह हमारे देश में घुस गया है। हमारी सरकार ने इसे निकालने का प्रयास किया है लेकिन यह बीमारी अंदर तक है और हमें लगातार प्रयास करते रहने होंगे। 
  •  08:15 - प्रधानमंत्री ने कहा कि जनसंख्या विस्फोट हमारी आने वाली पीढ़ियों के लिए अनेक संकट पैदा करता है। इस देश में एक जागरूक वर्ग है, जो इस बात को भली-भांति समझता है। वह अपने घर में शिशु को जन्म देने से पहले सोचता है कि क्या मैं उसके साथ न्याय कर पाऊंगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि छोटा परिवार रखने वालों से सीखने की ज़रूरत है। ऐसे लोग सम्मान के अधिकारी हैं।
  • 08:00 - प्रधानमंत्री ने कहा कि अनुच्छेद 370 के पक्ष में कुछ लोग बोलते हैं और उसकी वकालत करते हैं, ऐसे लोगों से देश पूछ रहा है कि अगर यह अनुच्छेद इतना ज़रूरी था और उसी से भाग्य बदलनेवाला था तो 70 सालों से बहुमत होने के बावजूद इसे स्थाई क्यों नहीं किया, इसे अस्थाई क्यों रखा। 
  • 07:54 - प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हम समस्या को टालते भी नहीं हैं और पालते भी नहीं हैं। जो काम 70 साल में नहीं हुआ वह हमारी सरकार ने सत्तर दिन में कर दिया। प्रधानमंत्री ने कहा कि घाटी के लोगों को कई सुविधाओं का फायदा नहीं मिल पा रहा था और वहाँ पर भ्रष्टाचार, अलगाववाद ने पैर जमा लिए थे। पीएम ने कहा कि दलितों, गुर्जर समेत अन्य समुदायों के लोगों को उनके अधिकार नहीं मिल पा रहे थे जो अब उन्हें मिलेंगे। 
  • 07:52 - प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी मुसलिम बेटियों के सिर पर तीन तलाक़ की तलवार लटकी हुई थी। वे कभी भी तीन तलाक़ का शिकार हो सकती हैं, यह भय उनको जीने नहीं देता था। कई इस्लामिक देशों ने इस कुप्रथा को बहुत पहले ख़त्म कर दिया था। प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर हम बाल विवाह, सती प्रथा, दहेज प्रथा के ख़िलाफ़ कठोर क़दम उठा सकते हैं, तो क्यों न हम तीन तलाक़ के ख़िलाफ़ भी आवाज उठाएँ। इसलिए हमने इस महत्वपूर्ण फ़ैसले को लिया। उन्होंने कहा कि यह निर्णय राजनीतिक तराजू से तौलने के नहीं होते हैं।
  • 07:43 - मोदी ने कहा कि 5 साल आपने मुझे सेवा करने का मौक़ा दिया और हमने पाँच साल तक लगातार प्रयास किया कि समस्याओं पर ध्यान दिया जाए और हम गाड़ी को ट्रैक पर लेकर लाए।
  •  07:41 - प्रधानमंत्री ने कहा, हमारी सरकार ने 10 हफ़्ते के अंदर तीन तलाक के लिए कानून बनाया और आतंक से जुड़े क़ानूनों में परिवर्तन किए हैं। प्रधानमंत्री सम्मान निधि के जरिए किसान भाई-बहनों को 90 हजार करोड़ रुपये उनके खाते में ट्रांसफ़र किए गए। 
  • 07:40 - प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि हमारी सरकार ने 10 हफ़्ते के अंदर अनुच्छेद 370, 35 ए को हटाया है और यह पूर्व गृह मंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल के सपनों को पूरा करने की दिशा में अहम क़दम है। 
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झंडा फहराने के बाद लाल किले से अपने संबोधन में देश को स्वतंत्रता दिवस और रक्षा बंधन की बधाई दी है। प्रधानमंत्री ने आज़ादी की लड़ाई में अपना जीवन कुर्बान कर देने वाले स्वतंत्रता सेनानियों को नमन किया है। 
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें