loader
रुझान / नतीजे चुनाव 2022

हिमाचल प्रदेश 68 / 68

बीजेपी
26
कांग्रेस
39
अन्य
3

गुजरात 182 / 182

बीजेपी
152
कांग्रेस
19
आप
7
अन्य
4

चुनाव में दिग्गज

आडवाणी की जनचेतना यात्रा और राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर तक भारत जोड़ो यात्रा निकाल रहे हैं। देश में 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले इस यात्रा को कांग्रेस के लिए बेहद अहम माना जा रहा है। इससे पहले भी तमाम नेताओं ने इस तरह की यात्राएं निकाली हैं। चूंकि यह सोशल मीडिया का दौर है इसलिए इस दौर में निकल रही राजनीतिक यात्राएं तेजी से लोगों के बीच पहुंच जाती हैं। 

यहां बताना होगा कि भारत के इतिहास में पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर द्वारा 1983 में निकाली गई भारत यात्रा, पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के द्वारा 1985 में निकाली गई कांग्रेस संदेश यात्रा, 1990 में पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी के द्वारा निकाली गई रथ यात्रा, 1991 में बीजेपी अध्यक्ष रहते हुए मुरली मनोहर जोशी के द्वारा निकाली गई एकता यात्रा के साथ ही 2004 में बीजेपी के द्वारा निकाली गई भारत उदय यात्रा जैसी कई यात्राएं चर्चित हैं। 

लेकिन यहां पर हम बात करेंगे अक्टूबर 2011 में लालकृष्ण आडवाणी के द्वारा निकाली गई जनचेतना यात्रा और राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के बारे में। 

Lal krishna Advani Jan Chetna Yatra and Rahul Gandhi Bharat Jodo Yatra - Satya Hindi

पहले बात करते हैं लालकृष्ण आडवाणी की जनचेतना यात्रा के बारे में। लालकृष्ण आडवाणी की जनचेतना यात्रा 23 राज्यों और 4 केंद्र शासित प्रदेशों के कुल 100 जिलों से होकर गुजरी थी। इस दौरान यात्रा ने 38 दिनों में 7600 का सफर तय किया था। 

जनचेतना यात्रा के दौरान लाल कृष्ण आडवाणी अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस एक बस में सवार थे। लेकिन राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा एक पदयात्रा है जिसमें शामिल नेता हर दिन 22 से 23 किलोमीटर चलते हैं। यह यात्रा देश के 12 राज्यों से होते हुए गुजरेगी और 3570 किलोमीटर की दूरी तय करेगी। 

Lal krishna Advani Jan Chetna Yatra and Rahul Gandhi Bharat Jodo Yatra - Satya Hindi

जनचेतना यात्रा के दौरान पर्दे के पीछे से 80 लोगों की टीम काम कर रही थी और उसमें से 20 लोग कोर टीम के सदस्य थे। इस यात्रा के साथ कई वाहनों का काफिला तो था ही, दो एंबुलेंस भी साथ थीं, जिसमें स्वास्थ्य व चिकित्सा से संबंधित अत्याधुनिक सुविधाएं थीं। इसके साथ ही इंटरनेट की बेहतर सुविधा के लिए आईटी और तकनीकी मामलों को जानने वाली टीम भी थी। वाहनों के प्रबंधन, रखरखाव, जन चेतना यात्रा में शामिल लोगों के खाने-पीने की व्यवस्था के लिए भी पार्टी के नेता तैनात थे। 

उस दौर में अनंत कुमार, रविशंकर प्रसाद, मुरलीधर राव और श्याम जाजू जैसे पुराने नेता आडवाणी की कोर टीम में शामिल थे। 

जबकि राहुल गांधी के साथ भारत जोड़ो यात्रा में शामिल 119 लोगों के साथ ही तमाम सुरक्षाकर्मी, पार्टी की कम्युनिकेशन टीम के सदस्य जिनमें फोटोग्राफर, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म संभालने वाले लोग और साथ ही मेडिकल टीम के लोग भी शामिल हैं और इन्हें मिलाकर यह संख्या 300 तक है। 

Lal krishna Advani Jan Chetna Yatra and Rahul Gandhi Bharat Jodo Yatra - Satya Hindi

कंटेनरों का इस्तेमाल 

यात्रा के दौरान राहुल गांधी के साथ शामिल पार्टी के नेता ट्रकों पर रखे गए 60 कंटेनरों में सोते हैं। राहुल गांधी सुरक्षा कारणों से एक अलग कंटेनर में जबकि बाकी लोग दूसरे कंटेनरों में सोते हैं। इन कंटेनरों में बेड लगे हुए हैं। कुछ कंटेनरों में एसी, टॉयलेट की भी सुविधा है। 

निश्चित रूप से इस तरह की पदयात्राओं ने भारत की सियासत में काफी असर किया है और ये पदयात्राएं जनता के बीच में पहुंचने का एक सशक्त जरिया हैं। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

राजनीति से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें