loader

केंद्र: त्योहारों से पहले कोरोना प्रतिबंधों पर विचार करें राज्य 

केंद्र सरकार ने गुरुवार की शाम राज्यों के साथ कोरोना समीक्षा बैठक के बाद यह आशंका जताई है कि जिन राज्यों में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं, वहाँ कोरोना संक्रमण बढ़ सकता है। इसके साथ ही केंद्र सरकार ने राज्यों से कहा है कि वे कोरोना टीकाकरण की रफ़्तार तेज़ करें। 

बता दें कि पाँच राज्यों में 2022 में विधानसभा चुनाव होने हैं, ये है- उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर। 

क्रिसमस पार्टी?

इसके साथ ही केंद्र ने राज्य सरकारों से त्योहारों से पहले स्थानीय प्रतिबंध लगाने पर विचार करने को कहा है। 

बता दें 25 दिसंबर को पूरे देश में जगह जगह क्रिसमस का त्योहार पूरे उल्लास से मनाया जाता है। इसके अलावा साल के अंत और नए साल की शुरुआत में भी लोग उत्सव मनाते हैं। इन त्योहारों पर भारी भीड़ उमड़ती है और सोशल डिस्टैंसिंग का पालन बेहद मुश्किल है। समझा जाता है कि केंद्र ने इसके मद्देनज़र ही राज्यों से कहा है कि वे कोरोना संक्रमण से बचने के लिए त्योहारों के पहले ही प्रतिबंध लगाने पर विचार करें। 

देश से और खबरें

निगरानी की सलाह

केंद्र ने राज्यों को सतर्क रहने और मामले की पॉज़िटिविटी रेट,डबलिंग रेट और ज़िलों में नए मामलों के समूहों की निगरानी करने की सलाह दी है। 

पॉज़िटिविटी रेट का मतलब है जितने लोगों की कोरोना जाँच हुई, उसमें से कितने लोगों में कोरोना संक्रमण पाया गया। इसी तरह जितने समय में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या दूनी हो जाती है, उसे डबलिंग रेट कहते हैं। इससे संक्रमण की रफ़्तार का पता चलता है। 

महाराष्ट्र में ओमिक्रॉन के नए मामले

केंद्र ने जिस दिन ये निर्देश राज्यों को दिए, उसी दिन महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के  ओमिक्रॉन वैरिएंट के मामलों में बड़ी बढ़ोतरी हुई है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, गुरुवार को 23 नए मामलों की पुष्टि हुई। पिंपरी-चिंचवाड़ में 11, मुंबई में पाँच, पुणे में तीन, उस्मानाबाद में दो और ठाणे, नागपुर और मीरा भयंदर में एक एक मामले आए हैं।

महाराष्ट्र में कुल मिला कर ओमिक्रॉन के अब तक 88 मामलों की पुष्टि हुई है।

corona guidelines: increase corona vaccination, concerned over assembly elections - Satya Hindi

टास्क फ़ोर्स की बैठक शुक्रवार को

ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोविड 19 टास्क फोर्स की बैठक बुलाई है।

उप मुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा है कि ओमिक्रॉन सामने आने के बाद से नाइट कर्फ्यू लगाने पर सबसे ऊंचे स्तर पर चर्चा हो रही है. उन्होंने कहा, "हमें चीजों को गंभीरता से लेने की ज़रूरत है। हम दुबारा लॉकडाउन नहीं चाहते हैं।"

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें