loader

LIVE : सर्जिकल स्ट्राइक 2: पाक सीमा पर ज़बरदस्त गोलाबारी

मंगलवार को तड़के बालाकोट के आतंकवादी कैम्प पर हमले के बाद पाकिस्तान ने एक बार फिर सीमा पर युद्धविराम का उल्लंघन किया है। नौशेरा और अखनूर में पाकिस्तानी सेना ने भारतीय सीमा के पार ज़बरदस्त गोलाबारी शुरू कर दी। भारतीय सेना उसका जवाब दे रही है। दोनों सेनाओं के बीच ज़ोरदार झड़प चल रही है। 
  • पाकिस्तान के बालाकोट में हवाई हमले कर आतंकवादी गुट के ठिकानों को नष्ट करने के बाद केंद्र सरकार ने देश के कई हिस्सों में हाई अलर्ट घोषित कर दिया है। पंजाब सरकार ने पाकिस्तान की सीमा से सटे इलाक़े और अंबाला एअर बेस में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। इसके अलावा मुंबई में भी हाई अलर्ट का एलान किया गया है और नौसेना को सतर्क कर दिया गया है। भारतीय वायु सेना के हमले के बाद पाकिस्तान ने कहा है कि वह समय और जगह चुन कर भारत को इसका जवाब देगा। इस धमकी के बाद भारत सरकार ने यह कदम उठाया है। 

विपक्ष को हमले की जानकारी दी

  • विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने विपक्षी दलों को बालाकोट हमले की पूरी जानकारी दी है। मंगलवार को हुई सर्वदलीय बैठक में स्वराज ने हमले की ज़रूरत, उसका तरीका और पूरे ऑपरेशन की विस्तृत जानकारी दी। 

'पाकिस्तान जवाब देगा'

  • पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने कहा है कि पाकिस्तान वायु सेना भारत को जवाब देने के लिए पूरी तरह तैयार है और जवाब देगी। उन्होंने इस बात से इनकार कर दिया कि वहां किसी तरह का कोई कैम्प था। उन्होंने यह भी कहा है कि भारतीय जहाज़ नियंत्रण रेखा के पार कर अंदर आए, लेकिन जब पाकिस्तानी वायु सेना ने अपने जहाज़ों को सावधान किया और उन्हें चुनौती दी, तो भारतीय जहाज़ वापस भाग गए। क़ुरैशी ने इस बात पर ज़ोर दिया कि इस्लामाबाद मामले को बढ़ाना नहीं चाहता है, वह युद्ध नहीं चाहता है। पाकिस्तान शांतिप्रिय देश है। लेकिन हम अपने क़ौम को मायूस नहीं होने देंगे। क़ुरैशी ने कहा कि भारत में हाल ही में होने वाले चुनाव की वजह से भारत इस तरह का प्रचार कर रहा है। 
  • बालाकोट स्थित आतंकवादी गुट जैश-ए-मुहम्मद पर हुए भारतीय हमले के बाद पाकिस्तान ने चेतावनी देते हुए कहा है कि वह भारत को इसका जवाब देगा। पाकिस्तान की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद ने ट्वीट कर कहा है कि स्थान और जगह चुन कर भारत को क़रारा जवाब दिया जाएगा। उन्होंने कहा है कि सेना और आम जनता हर स्थिति के लिए पूरी तरह तैयार हैं। क्रिकेटर से राजनेता बने इमरान ख़ान ने भारत के इस दावे को खारिज कर दिया कि भारतीय वायु सेना के जहाज़ों ने जैश-ए-मुहम्मद के शिविर पर बमबारी की है। उन्होंने पाकिस्तानी ज़मीन पर आतंकवादी कैम्प होने की संभावना से इनकार कर दिया। दूसरी ओर, पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने नेशनल कमांड अथॉरिटी की बैठक 27 फ़रवरी को बुलाई है। 

चीन ने कहा, संयम बरतें भारत-पाक

  • चीन ने भारत और पाकिस्तान ने संयम बरतने की अपील की है। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने कहा, 'हम उम्मीद करते हैं कि भारत और पाकिस्तान संयम बरतेंगे और ऐसे कदम उठाएँगे जिससे क्षेत्र में स्थिरता कायम करने और परस्पर रिश्ते सुधारने में मदद मिलेगी।'

कश्मीर पर ओआईसी की बैठक

  • पाकिस्तान के अनुरोध पर इस्लामिक राष्ट्रों के संगठन (ऑर्गनाइजेशन ऑफ़ इस्लामिक कॉन्फ्रेंस यानी ओआईसी) ने कश्मीर विवाद पर विशेष बैठक बुलाई है। पाकिस्तानी मीडिया ने यह ख़बर देते हुए कहा है कि यह बैठक स्थायी प्रतिनिधि के स्तर पर होगी। यानी इस बैठक में इस संगठन के सिर्फ़ स्थायी प्रतिनिधि ही भाग ले सकेंगे। इसका मतलब यह है कि इस बैठक में कश्मीर पर बात भले हो, लेकिन उसमें भारत का कोई प्रतिनिधि नहीं होगा।
  • पाकिस्तान स्थित आतंकवादी गुट जैश-ए-मुहम्मद के ठिकानों पर हवाई हमले के बाद पहली जनसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मैं देश को यह आश्वस्त करना चाहता हूँ कि देश सुरक्षित हाथों में है। उन्होंने एक कविता पढ़ी, 'सौगंध मुझे इस मिट्टी की, मैं देश नहीं मिटने दूँगा।'
  • पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने बालाकोट में आतंकवादी ठिकानों पर भारतीय हमले के बाद इमर्जेंसी बैठक बुलाई। इस बैठक में पाकिस्तान की सुरक्षा स्थितियों का जायज़ा लिया गया। इमरान ख़ा ने कहा, 'भारत ने हमले की कार्रवाई की है। उसने नियंत्रण रेखा का उल्लंघन किया है। पाकिस्तान को अपनी सुरक्षा के लिए माकूल जवाब देने का पूरा हक है।' 

सुषमा के ओआईसी न्योते का विरोध करेगा पाक

  • पाकिस्तान ने कहा है कि वह इस्लामिक राष्ट्रों के संगठन (ऑर्गनाइजेशन ऑफ़ इस्लामिक कंट्रीज़ यानी ओआईसी) की बैठक में भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को न्योता देने का विरोध करेगा। बालाकोट में आतंकवादी ठिकानों पर हुए भारतीय हमले के मद्देनज़र पाकिस्तान के संसद का विशेष सत्र बुलाया गया है। 

'चिंता न करें'

  • पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने इमजेंसी बैठक के बाद कहा कि उनका देश आत्मरक्षा में भारत को उचित जवाब देगा। उन्होंंने कहा, 'भारत की कार्रवाई पर पाकिस्तान के लोगों को चिंता नहीं करनी चाहिए, हमारे रक्षक देश की सुरक्षा और भारत को ज़ोरदार जवाब देने में सक्षम हैं।' 
सीनेटर शेरी रहमान ने कहा कि भारत में चुनाव होने वाले हैं, लोगों का ध्यान बँटाने के लिए भारतीय प्रधानमंत्री ने युद्ध का नगाड़ा बजा दिया है और इस तरह का काम कर रहे हैं। 
  • पाकिस्तान स्थित आतंकवादी ठिकानों पर हवाई हमले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुरक्षा मामलों पर बनी कैबिनेट कमेटी (सीसीएस) की बैठक की अध्यक्षता की है। इस बैठक में हवाई हमले और उसके बाद की स्थिति पर चर्चा की गई। 
  • इस बैठक के बाद बाहर निकलते हुए गृह मंत्री राजनाथ  सिंह ने थम्स अप का निशान बना कर लोगों की ओर हाथ हिलाया। वह उस वक़्त मुस्करा रहे थे। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने पत्रकारों से कहा, 'पूरा देश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ खड़ा है।' लेकिन वे सीसीएस में नहीं हैं। सीसीएस की बैठक में प्रधानमंत्री के अलावा रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री अरुण जेटली, राष्ट्रीय सुरक्षाा सलाहकार अजित डोभाल, रक्षा सचिव और विदेश सचिव मौजूद थे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें