loader

बीजेपी सांसद को बनाया बंधक, वादा पूरा न करने का आरोप, पुलिस ने छुड़ाया

वादा न पूरा करने पर कई बार जनता नेताओं को सबक भी सिखा देती है। ऐसा एक वाक़या उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में हुआ है। यहां बीजेपी के सांसद अरुण कुमार सागर को गुरुवार को खिलाड़ियों ने बंधक बना लिया। सूचना मिलने पर पुलिस तुरंत मौके़ पर पहुंची और सांसद को छुड़ाया। 

सांसद स्थानीय स्टेडियम में पहुंचे थे। लेकिन उनके वहां पहुंचने पर मौजूद खिलाड़ी बुरी तरह भड़क गए। खिलाड़ी इसलिए भड़क गए क्योंकि बीजेपी सांसद ने विजेता टीमों को इनाम में पुरस्कार राशि देने का वादा किया था लेकिन खिलाड़ियों का कहना था कि उन्होंने ये वादा नहीं निभाया। 

ताज़ा ख़बरें

ग़ुस्साए खिलाड़ियों ने स्टेडियम के गेट पर ताला लगा दिया और सांसद अंदर ही रह गए। इस दौरान खिलाड़ियों ने जमकर नारेबाज़ी की और सांसद के स्वागत के लिए लगे बैनर और पोस्टर भी फाड़ दिए। 

सूचना मिलने पर पुलिस बल मौक़े पर पहुंचा और खिलाड़ियों से गेट खोलने को कहा। इस दौरान पुलिस की खिलाड़ियों के साथ जमकर नोकझोंक भी हुई। पुलिस ने जैसे-तैसे खिलाड़ियों को शांत कराया और सांसद को स्टेडियम से बाहर निकाला। 

उत्तर प्रदेश से और ख़बरें

सांसद ने इस बात से इनकार किया कि जीतने वाली टीमों के खिलाड़ियों को पैसे नहीं दिए गए। जबकि खिलाड़ियों ने आरोप लगाया कि सांसद के कई बार वादा करने के बाद भी विजेता टीम को कोई पैसा नहीं मिला। 

एक खिलाड़ी ने कहा कि उन्हें स्टेडियम में खाना तक नहीं दिया गया। उनसे वादा किया गया था कि जीतने वाली हर टीम को 51 हज़ार का इनाम दिया जाएगा, जो नहीं दिया गया और इस वजह से हमने सांसद का विरोध किया। 

महिला खिलाड़ियों ने कहा कि पुलिस ने उन्हें पीटा और अभद्रता भी की गई। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें